Featured Post

Yes its sinking in.. Rank 40, CSE 2015.The UPSC circle- the close and the beginning.

Bagh-e-Bahisht Se Mujhe Hukam-e-Safar Diya Tha Kyun Kaar-e-Jahan Daraz Hai, Ab Mera Intezar Kar                      - Mohammad...

Sunday, August 15, 2010

मै हर बार जनम लूंगी...

मै फिर जन्म लूंगी।

फिर मै इसी जगह आउंगी।

यें जो बिखर गएँ हैं लोग।

यें जो तोड़ रहें हैं देश मेरा।

यें विभाजित जिनके दिल हैं आज।

इन दिलों को मैं फिर से मिलाऊँगी...

मै फिर जन्म लूंगी।

फिर मै इसी जगह आउंगी...


हर ओरे द्वेष कि आग लगी; ये ख्वाब तो फिर भी पलता है।

सब प्रेम बदलते देखें हैं, यह 'प्यार' मगर न बदलता है।

यह प्यार है तुझसे देश मेरे; ये साथ मेरे मुझमे चलता है...

यह जो सो गएँ हैं लोग।

भ्रष्टता कि धुंध में खो गएँ है लोग।

बुराई कि आवाजों से हारकर चुप हो गएँ हैं लोग।

इनमे सोये उस रोष, उस आग को मै फिर जलाऊंगी।

मै फिर जन्म लूंगी।

फिर मै इसी जगह आउंगी।


जिस ओरे कदम मै रखती हूँ; भुखमरी गरीबी छायी है।

ट्रेनों के डब्बे उड़ायें किसने खेतों में आग लगाईं है।

नन्ही जानों को मसला है;

यें जो गुनाहों के कीचड में सन गएँ हैं लोग।

यें जो खुद से ही अजनबी बन गएँ हैं लोग।

यें जो नफरतों को फैला रहें हैं।

यें जो लोगों के घर जला रहें हैं।

इन्हें मैं।

फिर से प्यार करना सिखाउंगी।

मै फिर जन्म लूंगी।

फिर मै इसी जगह आउंगी।


जो राह चुनी है मैंने, वहाँ दूर दूर खारा सागर लहराता है।

फिर भी उस पार खड़ा कोई; मुझको खींच बुलाता है।

जब जब हताश हो हारू मै; मार्गदर्शक एक सितारा -सा।

कुछ है जो मुझमें मिल जाता है; जलता है, मुझे जलाता है।

मैं आज चलीं हूँ आग पे इस।

एक दिन यें सब भी आएँगे...

यें जो बिखर रहें हैं लोग।

यें जो तोड़ रहें है देश मेरा...

यें विभाजित हैं जिनके दिल आज।

इनके दिलों को मै फिर से मिलाऊँगी...

मै हर बार जनम लूंगी।

हर बार मै इसी जगह आउंगी....

10 comments:

  1. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  2. K MAIN BHI FIR YAHIN AAUNGAA.... LOLZZZ.. WITH THE SAME TEMPTATION... NICE ONE GZLLLLLLLLLLLL

    ReplyDelete
  3. main har bar janam lugi.
    har baar mai iss jagah aaugi .
    jo chut gaya hai piche kuche.
    aake use phir se banaugi........:)

    ReplyDelete
  4. @Vinay
    'GAZAL' hai Captain Sahab... GZLLLLLL noi..
    :)

    ReplyDelete
  5. Good inspiring words. Nicely done.

    ReplyDelete
  6. Very Good Gazal..

    इनके दिलों को मै फिर से मिलाऊँगी...

    मै हर बार जनम लूंगी।

    हर बार मै इसी जगह आउंगी....

    I think with the kind of intensity you have poured out your feelings..may be in this life only you will be able to see the hearts meeting.. I am keeping my fingers crossed.. appears an iota of chance but nevertheless it's there.. God bless, take care, keep inspiring..

    ReplyDelete
  7. iss janam me hi tera ye sapna pura hoga,
    rah par badenge tere kadam to manzil dur kaha jayegi..
    chalte chalte wo ab hi tujhe mil jaegi.

    Amen!! Gazal superb feel.

    ReplyDelete
  8. Great thought.... i would like to add some emo to it......


    badalne chalen hai halaat,na badlenge yeh jazbaat
    rokne pe na rukenge,gire to phir uthenge

    badlenge halaat isi janam me,phir janam lenge badle hue desh ke halaato me...

    ReplyDelete
  9. desh bhakti jaga di fir aapne,
    meri aatma hila di fir aapne,
    soya tha main laga ab jaagne,
    mere bhikhre hue sapne ko fir thama aapne.

    ReplyDelete
  10. lets pray and hope and act...

    ReplyDelete